asliazadi
दमन, दानह, दीव की खबरें

प्रशासक प्रफुल पटेल तथा शेरपा ने जी-20 संबंधी प्रदर्शनी का किया उद्घाटन

असली आजादी न्यूज नेटवर्क, दीव 18 मई। वैश्विक एकता की सार्वभौमिक भावना को बढ़ावा देने तथा विश्­व के सामने आने वाली वैज्ञानिक तथा अन्­य चुनौतियों के उचित एवं कारगर समाधान के लिए काम करने की दिशा में दीव में जी-20 सम्मेलन का भव्­य आयोजन किया जा रहा है। इसी क्रम में एक स्थायी सस्टेनेबल ब्लू इकोनॉमी के लिए वैज्ञानिक चुनौतियों और अवसरों पर जी-20 रिसर्च इनोवेशन एंड इनिशिएटिव गैदरिंग (फककॠ) सम्मेलन 18 मई 2023 को दीव में संपन्न हुआ। जिसमें कुल 35 विदेशी प्रतिनिधि और भारत सरकार के 40 भारतीय विशेषज्ञ और भारत के विभिन्न वैज्ञानिक विभागों/संगठनों से आमंत्रित गणमान्य अतिथियों ने भाग लिया। बैठक की अध्यक्षता डॉ. श्रीवारी चंद्रशेखर, सचिव डीएसटी और जी-20 आरआईआईजी-चेयर ने की। इस सम्­मेलन में जी-20 देश और अंतर्राष्ट्रीय संगठन ब्राजील, इंडोनेशिया, ऑस्ट्रेलिया, जापान, इटली, फ्रांस, जर्मनी, रूस, सऊदी अरब, सिंगापुर, संयुक्त अरब अमीरात, यूनाइटेड किंगडम, नीदरलैंड, फ्रांस, कोरिया गणराज्य, रूस, संयुक्त राज्य अमेरिका, यूरोपीय संघ, स्पेन, नॉर्वे और अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन (आईएसए) ने अपनी सहभागिता सुनिश्चित की। ज्ञात हो कि रिसर्च इनोवेशन इनिशिएटिव गैदरिंग (फककॠ) जी-20 फोरम की एक नई पहल है, जिसे 2022 में इंडोनेशियाई प्रेसीडेंसी के दौरान शुरू किया गया था। भारत 2023 में अपने जी-20 प्रेसीडेंसी के दौरान फककॠ पहल को समान समाज के लिए अनुसंधान और नवाचार के महत्­वपूर्ण विषय के तहत आगे बढ़ा रहा है। मानवता को केंद्र में रखते हुए एवं वसुधैव कुटुम्­बकम् की भावना को आत्­मसात करते हुए जी-20 शिखर सम्मेलन एकता के साथ वैश्­वीकरण की दिशा में समन्वित रूप से कार्य करता है। कार्यक्रम के आरंभ में संघ प्रदेश दादरा नगर हवेली और दमण-दीव तथा लक्षद्वीप के प्रशासक प्रफुल पटेल एवं सभी डेलिगेट्स जी-20 की बैठक हेतु दीव के एजुकेशन हब पधारे, जहां भारतीय आतिथ्­य सत्­कार की परंपरा के अनुसार विदेशी मेहमानों का गर्मजोशी से स्वागत किया गया जिससे सभी मेहमान बेहद अभिभूत नजर आए। आगमन के पश्­चात सभी डेलिगेट्स ने परिसर में लगी सैंड कला कृतियों, विभिन्न कला प्रदर्शनियों का अवलोकन किया तथा उनकी सराहना की। साथ ही प्रतिनिधि मंडल ने संघ प्रदेश के उद्योगों के स्­टॉलों का भी अवलोकन किया। इसके उपरांत प्रशासक प्रफुल पटेल तथा शेरपा द्वारा जी-20 संबंधी प्रदर्शनी का उद्घाटन किया गया। तत्­पश्­चात जी-20 शिखर सम्मेलन के तहत सस्टेनेबल ब्­लू इकोनॉमी हेतु वैज्ञानिक चुनौतियों तथा अवसरों पर विचार-विमर्श करने के लिए जी-20 प्रतिनिधि मंडल रिसर्च एंड इनोवेशन इनिशिएटिव गैदरिंग (फककॠ) ग्रुप की बैठक का सफल आयोजन संपन्­न हुआ। बैठक की अध्यक्षता डॉ. श्रीवारी चंद्रशेखर, सचिव डीएसटी और जी-20 आरआईआईजी-चेयर ने की। डीएसटी के सचिव और जी-20 आरआईआईजी के अध्यक्ष डॉ. श्रीवारी चंद्रशेखर ने बैठक में प्रतिनिधियों का स्वागत किया। डॉ. चंद्रशेखर ने अपनी प्रारंभिक टिप्पणी में कहा कि भारत के पास तटीय क्षेत्र के विकास के लिए एक बहु-आयामी योजना है जिसमें नीली अर्थव्यवस्था को बदलना, तटीय बुनियादी ढांचे में सुधार और समुद्री पारिस्थितिकी तंत्र की रक्षा करना शामिल है। सम्मेलन में मुख्य रूप से ब्लू इकोनॉमी साइंस एंड सर्विसेज को समझने, नीली अर्थव्यवस्था के क्षेत्र और अवसर, अवलोकन डेटा और सूचना सेवाएं, समुद्री पारिस्थितिकी तंत्र और प्रदूषण, नीली अर्थव्यवस्था प्रबंधन और परिप्रेक्ष्य, तटीय और समुद्री स्थानिक योजना, समुद्री जीवित संसाधन और जैव विविधता, गहरे समुद्र महासागर प्रौद्योगिकी और ब्लू इकोनॉमी नीति परिप्रेक्ष्य पर चर्चा की गई। इस सम्मेलन में स्थायी ब्लू इकोनॉमी के लिए राष्ट्रों की सर्वोत्तम प्रथाओं और नीति मॉडल को साझा करने पर भी विचार-विमर्श किया। उल्लेखनीय है कि भारत ने बैठक के दौरान चर्चा के लिए अनुसंधान मंत्रियों की घोषणा का पहला मसौदा भी प्रस्तुत किया। 5 जुलाई 2023 को मुंबई में होने वाली अनुसंधान मंत्रियों की बैठक में मंत्रिस्तरीय घोषणा को अपनाया जाएगा। इस अवसर पर बोलते हुए संघ प्रदेश दादरा नगर हवेली और दमण-दीव तथा लक्षद्वीप के प्रशासक प्रफुल पटेल ने बताया कि समुद्री सुरक्षा, पर्यावरण संरक्षण, आधारभूत संरचना तथा क्षमता विकास आदि के महत्­वपूर्ण मुद्दों पर परस्­पर सहयोग एवं समन्वय के जरिए कार्य किया जाएगा। ज्ञात हो कि 18/05/2023 को सुबह ब्लू फ्लैग बीच घोघला पर सामूहिक योगाभ्यास किया गया, जिसमें विदेशी डेलिगेट्स भी शामिल हुए। इस योगाभ्यास का उद्देश्य योग की सुदीर्घ भारतीय परंपरा के जरिये विश्व को स्वस्थ एवं तनावमुक्त जीवन शैली की ओर ले जाने का संदेश देना था। योगाभ्­यास के दौरान विदेशी डेलीगेट्स अति प्रसन्­न नजर आये और इससे भरपूर लाभान्वित हुए और उन्­होंने योग को अपनाने की बात भी कही। साथ ही विदेशी मेहमानों ने वॉटर स्­पोर्ट्स का भी आनंद लिया। जी-20 शिखर सम्मेलन को लेकर दीव शहर में हर्षोल्­लास तथा उत्सव का माहौल बना हुआ है। इस अवसर पर प्रशासक प्रफुल पटेल सहित विदेशी प्रतिनिधि मंडल, वैज्ञानिक समुदाय तथा उच्­च अधिकारीगण उपस्थित रहे।

Related posts

प्रशासक प्रफुल पटेल ने आंगणवाड़ी कार्यकर्ता, आंगणवाड़ी सहायिका और आशा कार्यकर्ताओं के वर्तमान मानदेय में वृद्धि की घोषणा की

Vijay Bhatt

मोदी सरकार के 9 साल पूरे होने पर गुजरात के पूर्व मंत्री जीतू वाघाणी ने मोदी सरकार की गिनाई उपलब्धियां

Vijay Bhatt

प्रशासक प्रफुल पटेल का संघ प्रदेश थ्रीडी में ऐतिहासिक निर्णय: प्राकृतिक गैस पर टैक्स सिर्फ 6 प्रतिशत कर दिया

Vijay Bhatt

Leave a Comment