asliazadi
दमन, दानह, दीव की खबरें

दमण-दीव विद्युत विभाग एवं डीएनएचपीडीसीएल के वित्तीय वर्ष 2021-22 के बेहतरीन मुनाफेवाले प्रदर्शन से जनता में फिर उठा सवाल: मुनाफे में था तो बेचा क्यों

असली आजादी न्यूज नेटवर्क, दमण 8 जून। संघ प्रदेश दादरा एवं नगर हवेली और दमण-दीव प्रशासन द्वारा 31 मार्च 2022 तक संचालित किये गये दमण-दीव विद्युत विभाग एवं दादरा नगर हवेली के विद्युत निगम डीएनएच पावर डिस्ट्रीब्यूशन कॉपार्ेरेशन लिमिटेड के पिछले वित्तीय वर्ष 2021-22 के आंकडे सार्वजनिक हुए है जिसमें 100-100 करोड रुपये का मुनाफा दमण-दीव विद्युत विभाग एवं दादरा नगर हवेली विद्युत निगम द्वारा अर्जित किया गया है। जनता के सामने विद्युत विभाग एवं निगम के आंकडे आने के बाद पूरे प्रदेश में एक ही चर्चा चल रही है कि इतना बेहतरीन प्रदर्शन और करोडों रुपये का मुनाफा कमाने वाले दमण-दीव विद्युत विभाग और दादरा नगर हवेली के विद्युत निगम डीएनएच पावर डिस्ट्रीब्यूशन कॉपार्ेरेशन लिमिटेड का निजीकरण करने की क्या जरुरत थी। आज सुबह से ही संघ प्रदेश थ्रीडी के तीनों जिलों के चौराहों, चाय की दुकानों, सार्वजनिक स्थानों तथा सोशल मीडिया पर यहीं चर्चा सुनने में और देखने को मिल रही है। संघ प्रदेश थ्रीडी के नागरिकों को प्रशासन द्वारा सुचारु रुप से संचालित बिजली वितरण व्यवस्था पर पूरा भरोसा रहा है। दादरा नगर हवेली की बात करे तो वर्ष 2016 तक यहां का विद्युत निगम डीएनएच पावर डिस्ट्रीब्यूशन कॉपार्ेरेशन लिमिटेड हर वर्ष 200 से 300 करोड रुपये का घाटा करता था। लेकिन 2016 में संघ प्रदेश की कमान संभालने के बाद प्रशासक प्रफुल पटेल ने दादरा नगर हवेली के विद्युत निगम का पोस्टमार्टम कराया। घाटे के जड तक पहुंचे, काबिल इंजीनियर को प्रभार दिया और जानकार आईएएस अधिकारी को पावर सेक्रेटरी की जिम्मेदारी दी। 2 से 3 सालों के भीतर दादरा नगर हवेली का विद्युत निगम करोडों रुपये के घाटे से बाहर निकलकर नो प्रोफिट नो लॉस की स्थिति में आ गया। पिछले दो सालों में तो इस निगम ने 100-100 करोड रुपये का मुनाफा कमाकर इतिहास रच दिया। दमण-दीव विद्युत विभाग की बात करे तो प्रशासक प्रफुल पटेल ने इस विभाग के प्रदर्शन को और सुधारते हुए सबसे कम लाइन लॉस और सबसे ज्यादा मुनाफा वाला विभाग बना दिया था। 1 अप्रैल 2022 को केन्द्र सरकार के आदेशानुसार संघ प्रदेश थ्रीडी प्रशासन ने अपने दोनों कमाऊ बेटे यानि दमण-दीव विद्युत विभाग और दादरा नगर हवेली के विद्युत निगम डीएनएच पावर डिस्ट्रीब्यूशन कॉपार्ेरेशन लिमिटेड को केन्द्र सरकार द्वारा गठित नये निगम डीएनएच डीडी पावर डिस्ट्रीब्यूशन कॉपार्ेरेशन लिमिटेड को सुपुर्द कर दिया। जिसका 51 प्रतिशत शेयर गुजरात की टोरेंट पावर कंपनी के पास है। 1 अप्रैल 2022 से टोरेंट पावर ने नव गठित डीएनएच डीडी पावर डिस्ट्रीब्यूशन कॉपार्ेरेशन लिमिटेड की कमान संभाल ली है। पिछले दो महीने में टोरेंट द्वारा संचालित नये निगम के तहत बिजली वितरण व्यवस्था एवं बिजली दरों में बढोत्तरी को लेकर जनता में भारी आक्रोश है। 24×7 बिना रुकावट सेवा देने में टोरेंट पावर अबतक विफल रहा है। नव गठित निगम का पहला क्वॉर्टर 30 जून 2022 को जब समाप्त होगा तब उसकी परफॉर्मेंस रिपोर्ट पर सबकी नजर रहेगी। फिलहाल संघ प्रदेश की जनता पिछले वित्तीय वर्ष के विद्युत विभाग एवं निगम के आंकडों से काफी उत्साहित है। जनता को अभी भी उम्मीद है कि सिर्फ मुनाफे का एक मात्र लक्ष्य लेकर संघ प्रदेश थ्रीडी का बिजली कारोबार हस्तगत करने वाली टोरेंट पावर कंपनी कभी भी प्रशासन द्वारा चलाये गये दमण-दीव विद्युत विभाग एवं दादरा नगर हवेली के विद्युत निगम डीएनएच पावर डिस्ट्रीब्यूशन कॉपार्ेरेशन लिमिटेड जैसी सेवाएं न दे पायेंगी और ना ही ऐसा मुनाफा कमा पायेंगी।

Related posts

प्रशासक प्रफुल पटेल से दादरा ग्राम पंचायत की सरपंच सुमित्रा पटेल, उपसरपंच कमलेश देसाई एवं टीम ने की मुलाकात

Vijay Bhatt

दमण-दीव लोकसभा सीट पर भाजपा सांसद के रुप में सांसद लालू पटेल के हुए 13 साल: नरेन्द्रभाई मोदी ने 2009 में दिया था पहला टिकट

Vijay Bhatt

संघ प्रदेश दादरा नगर हवेली और दमण-दीव एवं लक्षद्वीप के प्रशासक प्रफुल पटेल ने द अवॉर्ड गैलरी का किया उद्घाटन

Vijay Bhatt

Leave a Comment