asliazadi
दमन, दानह, दीव की खबरें

संघ प्रदेश थ्रीडी में बिजली के दामों में बढोत्तरी, एफपीपीसीए चार्ज एवं लगातार पावर ट्रिप और पावर कट से जनता हुई त्राहिमाम

असली आजादी न्यूज नेटवर्क, दमण 05 जून। अप्रैल 2022 से पहले संघ प्रदेश दादरा एवं नगर हवेली और दमण तथा दीव की जनता ने कभी नहीं सोचा था कि यहां दूसरे राज्यों की तरह कभी भी बिजली बिना बताये चले जाने का सिलसिला शुरु हो जायेगा। किसी ने नहीं सोचा था कि बिजली के दाम दूसरे राज्यों के बराबर पहुंचने के लिए इतने करीब आ जायेगा। दो-दो महीनों तक नया कनेक्शन पाने के लिए लोगों को इंतजार करना पडेगा। लेकिन ये सारी असंभव चीजों को टोरेंट पावर कंपनी ने सिर्फ दो महीने में संघ प्रदेश थ्रीडी बिजली वितरण व्यवस्था एवं खुदरा कारोबार अपने हाथों में लेने के बाद करके दिखा दिया। आज दादरा एवं नगर हवेली, दमण और दीव जिले में कभी भी बिजली गुल हो जाती है। टॉल फ्री नंबर है लेकिन इतने सवाल का जवाब देना पडता है कि नागरिक कॉल कट कर देना ही मुनासिब समझते है। पिछले दो महीनों में बिजली के बेतहासा बढे बिलों ने आम नागरिक की कमर तोडकर रख दी है। एफपीपीसीए चार्ज सभी पर लागू होने से गरीब एवं मध्यम वर्ग के बिजली उपभोक्ता सबसे ज्यादा प्रभावित एवं त्रस्त दिख रहे है। व्यापारी और उद्योगजगत भी सख्ते में है। हालांकि गरीब और मध्यम वर्ग के लोग खुलकर बिजली बिलों में बढोत्तरी को लेकर आवाज उठा रहे है लेकिन व्यापारी और उद्योगजगत डर के मारे चुपचाप मन ही मन कोस रहा है। जानकारों की माने तो संघ प्रदेश दादरा एवं नगर हवेली और दमण-दीव की बिजली वितरण व्यवस्था एवं खुदरा कारोबार को सोने का अंडा देने वाली मुर्गी समझकर गुजरात की कंपनी टोरेंट पावर ने ऊंची बोली लगाकर टेंडर हासिल किया था। टोरेंट पावर को लगता था कि दमण-दीव विद्युत विभाग और दादरा एवं नगर हवेली बिजली वितरण निगम का सीधे हस्तांतरण कर सोने के अंडे निकालना शुरु कर देगे। इस कारण कारोबार अपने हाथों में लेने से पहले न तो ठीक से सर्वे किया और ना ही कारोबार अपने हाथों में आने के बाद जरुरी टेक्निकल एवं एक्सपर्ट स्टाफ की भर्ती की। जिसका नतीजा आप सबके सामने है। तीनों जिलों में बिजली व्यवस्था राम भरोसे चल रही है। किस ऐरिये का कौन इंचार्ज है पता नहीं। जनता की तकलीफों पर सुनवाई कौन करेगा पता नहीं। तीनों जिलों में बिजली अचानक गुल क्यों होती है जवाब देने वाला कोई नहीं। पिछले दो महीने में ही बिजली के बिलों में इतनी बढोत्तरी क्यों हुई जवाब देने वाला कोई नहीं। संघ प्रदेश थ्रीडी के तीनों जिलों की जनता में अब ये भावना प्रबल बन रही है कि डीएनएच डीडी पावर डिस्ट्रीब्यूशन कॉर्पोरेशन लिमिटेड में संघ प्रदेश थ्रीडी प्रशासन की भी है 49 प्रतिशत हिस्सेदारी है इसलिए प्रशासन को भी जनता को राहत मिले ऐसी कोई व्यवस्था करनी चाहिए। इसके साथ-साथ टोरेंट पावर जो कि डीएनएच डीडी पावर डिस्ट्रीब्यूशन कॉर्पोरेशन लिमिटेड का संचालन करता है उस पर प्रशासन की मॉनिटरिंग कम से कम एक साल तक रखनी चाहिए। खैर अब प्रशासन की जिम्मेदारी है कि संघ प्रदेश थ्रीडी के तीनों जिलों में डीएनएच डीडी पावर डिस्ट्रीब्यूशन कॉर्पोरेशन लिमिटेड के स्थान पर धडल्ले से टोरेंट पावर के नाम से बिल वसूलकर जनता में जबरन टोरेंट पावर का दमखम बिठाने का प्रयास करने वाली और जनता को पहुंचने वाली बिजली को राम भरोसे भेजने वाली कंपनी पर कार्रवाई करे और जनता को राहत दे।

Related posts

दमण जिला पंचायत उपप्रमुख मैत्री पटेल ने कोरोना वैक्सीन का लिया दूसरा डोज: 1 मई से शुरु होने वाले वैक्सीनेशन अभियान से जुडने की युवाओं से की अपील

Vijay Bhatt

प्रशासक प्रफुल पटेल के अथक प्रयासों से प्रदेश के मरीजो को मिली ऑक्सीजन प्लांट की संजीवनी

Vijay Bhatt

दमण और दानह जिले में वीकेंड कफ्र्यू हटाया गया : रात्रि कफ्र्यू 10 बजे से सुबह 6 बजे तक जारी रहेगा

Vijay Bhatt

Leave a Comment