asliazadi
दमन, दानह, दीव की खबरें

दमण को सीआरजेड-2 में और दीव को आईलैंड घोषित करने की मांग

– दमण-दीव सांसद लालू पटेल ने केन्द्रीय पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री भूपेन्द्र यादव से की मुलाकात
– सांसद लालू पटेल ने केन्द्रीय मंत्री को सौंपे ज्ञापन में कहा: 2009 से उठाई जा रही मेरी मांग का अभीतक नहीं हुआ समाधान, आपसे योग्य कदम उठाने की उम्मीद – दमण-दीव सांसद लालू पटेल ने केन्द्रीय पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री का कार्यभार संभालने पर भूपेन्द्र यादव को दी शुभकामनाएं
असली आजादी न्यूज नेटवर्क, नई दिल्ली 29 जुलाई। दमण-दीव सांसद लालू पटेल ने आज नई दिल्ली में केन्द्रीय पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री भूपेन्द्र यादव से मुलाकात की। सांसद लालू पटेल ने सबसे पहले केन्द्रीय पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री का कार्यभार संभालने पर भूपेन्द्र यादव को शुभकामनाएं दी। सांसद लालू पटेल ने केन्द्रीय पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री भूपेन्द्र यादव को ज्ञापन सौंपकर दमण को सीआरजेड-2 और दीव को आईलैंड घोषित करने की मांग की। सांसद लालू पटेल ने केन्द्रीय मंत्री को सौंपे ज्ञापन में दमण-दीव की भौगोलिक परिस्थिति के बारे में अवगत कराते हुए बताया है कि दमण का क्षेत्रफल 72 वर्ग किमी है और दीव का क्षेत्रफल 33 वर्ग किमी है। वहीं सबसे छोटा केंद्रशासित प्रदेश है और सीआरजेड-3 में है। दमणगंगा नदी दमण के केंद्र से होकर गुजरती है और दक्षिण में कालई नदी, उत्तर में कोलक नदी और पश्चिम में अरब सागर है। जहां तक ​​दीव को दीव का प्रमुख हिस्सा माना जाता है यानि दीव वणाकबारा तक एक द्वीप है। घोघला मुख्य भूमि पर है और इसलिए यहां विकास बाधित है। दीव के फुदम में एक पक्षी अभयारण्य भी है। इसलिए दमण और दीव में औद्योगिक विकास और पर्यटन के साथ-साथ शहरीकरण के लिए भूमि की कमी है। सांसद ने बताया है कि उस समय के दौरान जब डॉ. हर्षवदन राज्य मंत्री (आईसी) थे, शैलेश नायक समिति ने सीआरजेड विनियम 2011 का गठन किया था। सीआरजेड विनियम 2018 का मसौदा को अपनी रिपोर्ट के साथ कमजोर बना दिया था। नए मसौदे के नियमों ने पर्यटन और बुनियादी ढांचे के विकास को प्राथमिकता देकर मछुआरों को तटरेखा के करीब विस्थापित कर दिया होगा, क्योंकि इसमें विकास क्षेत्र को 500 मीटर से घटाकर 50 मीटर करने का सुझाव दिया गया था, जो उन्हें अपने मछली पकड़ने के जहाजों को जमीन पर पार्क करने में सक्षम नहीं करेगा। जिससे उनकी रोजी-रोटी छिन रही है। साथ ही रेत के टीलों और मैंग्रोवों का विनाश, जो मुख्य भूमि में समुद्र के पानी के प्रवाह में प्राकृतिक बाधाएँ हैं और तट के साथ समुद्री वनस्पतियों को भी नष्ट कर देंगे। साथ ही उपर्युक्त शैलेश नायक समिति ने मछुआरों, तटीय निर्वाचन क्षेत्रों के सांसदों और राज्य/संघ राज्य क्षेत्र प्रशासन को विश्वास में नहीं लिया था। मैं मसौदा सीआरजेड विनियम 2018 की स्थिति के बारे में आश्वस्त नहीं हूं। जब मैं पहली बार 2009 में सांसद बनकर आया था तभी से मैंने सभी मंत्रियों के साथ अपने केंद्र शासित प्रदेश दमण-दीव का मुद्दा उठाया था। मैंने दमण को सीआरजेड-2 और दीव को आईलैंड घोषित करने की मांग की थी। सांसद लालू पटेल ने केन्द्रीय पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री भूपेन्द्र यादव से आग्रह किया है कि आप मेरे अति लंबित मामले पर गंभीरता दिखाये और उचित कदम उठाये।

Related posts

कडैया पंचायत की 50 से अधिक महिलाओं को प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा, जीवन ज्योति और अटल पेंशन योजना से जोडा गया

Vijay Bhatt

झोलावाडी ग्राम पंचायत सदस्य राजेन्द्र बारिया के खिलाफ एफआईआर दर्ज होने पर सीईओ ने किया सस्पेंड

Vijay Bhatt

दमण की 50 सेल्फ हेल्प ग्रुप की बहनों को जि. पं. अध्यक्ष नवीन पटेल एवं कारोबारी कमेटी चेयरमैन फाल्गुनी पटेल ने आजीविका एक्सपोजर विजिट के लिए किया रवाना

Vijay Bhatt

Leave a Comment